Saroj Khan biopic announced, her daughter Sukaina Khan Said-Hope the biopic will show her respect for the profession | दिवंगत सरोज खान की बेटी सुकैना ने कहा-उम्मीद है कि बायोपिक में मां के पेशे के प्रति सम्मान दिखाया जाएगा

Saroj Khan biopic announced, her daughter Sukaina Khan Said-Hope the biopic will show her respect for the profession | दिवंगत सरोज खान की बेटी सुकैना ने कहा-उम्मीद है कि बायोपिक में मां के पेशे के प्रति सम्मान दिखाया जाएगा

6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दिवंगत कोरियोग्राफर सरोज खान की 3 जुलाई (शनिवार) को पहली डेथ एनिवर्सरी थी। इस मौके पर भूषण कुमार ने घोषणा की थी कि उनकी प्रोडक्शन कंपनी टी-सीरीज सरोज खान पर एक बायोपिक बनाएगी। सरोज खान की लाइफ पर बेस्ड इस फिल्म के लिए टी-सीरीज ने राइट्स भी हासिल कर लिए हैं। इतना ही नहीं फिल्म बनाने के लिए मेकर्स ने सरोज के बच्चों सुकैना और राजू खान से भी अनुमति ले ली है। अब हाल ही में सरोज खान की बेटी सुकैना ने एक इंटरव्यू में कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि बायोपिक में उनकी मां के पेशे के प्रति सम्मान दिखाया जाएगा।

सुकैना खान ने कहा, “मेरी मां को पूरी इंडस्ट्री ने बहुत प्यार और सम्मान दिया। लेकिन हमने उनके संघर्ष और लड़ाई को बहुत करीब से देखा है, जिसके बाद ही वे उस मुकाम तक पहुंची थीं। हमें उम्मीद है कि इस बायोपिक के साथ भूषण जी उनकी कहानी, हमारे लिए उनका प्यार, डांस के प्रति उनके जुनून, अपने एक्टर्स के प्रति उनके प्यार और इस बायोपिक में उनके पेशे के प्रति सम्मान दिखाने में सक्षम होंगे।”

मेरी मां को इंडस्ट्री द्वारा बहुत प्यार और इज्जत मिली
इससे पहले सरोज के बेटे राजू खान ने मां की बायोपिक पर एक इंटरव्यू में कहा था, “मेरी मां को डांसिग बेहद पसंद थी और हम सब जानते हैं कि उन्होंने कैसे अपनी जिंदगी डांस के लिए समर्पित कर दी। मुझे खुशी है कि मैं उन्हीं के नक्शेकदम पर चला। मेरी मां को इंडस्ट्री द्वारा बहुत प्यार और इज्जत मिली और ये मेरे लिए, हमारे परिवार के लिए गर्व की बात है कि दुनिया उनकी कहानी देखेगी।” राजू खुद भी एक कोरियोग्राफर हैं।

सरोज खान के डांस फॉर्म्स एक कहानी बयां करते हैं
प्रोड्यूसर भूषण कुमार ने बायोपिक की अनाउंसमेंट करते हुए अपने बयान में कहा था, “सरोज खान जी ने ना सिर्फ अपने डांस से एक्टर्स की परफॉर्मेंस को यादगार बनाया है, बल्कि हिंदी सिनेमा में कोरियोग्राफी में एक क्रांति लाई है। उनके डांस फॉर्म्स एक कहानी बयां करते हैं, जो फिल्ममेकर के लिए बेहद मददगार होता है। सरोज जी की जर्नी 3 साल की उम्र से शुरू हुई थी, जिस दौरान उनका सामना कई उतार-चढ़ाव, इज्जत और सम्मान से हुआ। मुझे आज भी याद है, जब में अपने पिता के साथ फिल्म के सेट में जाया करता था और उन्हें अपनी कोरियोग्राफी से गानों में जान फूंकते देखता था। उनकी लगन सराहनीय थी। मुझे बेहद खुशी है कि सुकैना और राजू अपनी मां की बायोपिक बनाने के लिए राजी हो गए हैं।” बता दें कि, बायोपिक में सरोज खान की जिंदगी के उतार-चढ़ावों और उनके स्ट्रगल को दिखाया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *