Taimur brother’s name revealed; saif ali khan and kareena kapoor named their second son Jeh | सैफीना ने नहीं किया छोटे बेटे के नाम का खुलासा, पर अभी उसे ‘जेह’ कह कर बुलाते हैं करीना-सैफ

Taimur brother's name revealed; saif ali khan and kareena kapoor named their second son Jeh | सैफीना ने नहीं किया छोटे बेटे के नाम का खुलासा, पर अभी उसे 'जेह' कह कर बुलाते हैं करीना-सैफ

10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

तैमूर के जन्म पर सैफ और करीना ने सोशल मीडिया पर बेटे के बारे में जानकारी देने में ज्यादा देर नहीं लगाई थी। उसका नाम और फोटो दोनों ही जन्म के कुछ ही दिनों के भीतर सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे थे। पर इस साल फरवरी में जन्मे छोटे बेटे के बारे सैफीना ने काफी टाइम लिया। छोटे बेटे का नाम अभी आधिकारिक तौर पर नहीं रखा गया है, पर सैफीना उसे जेह कहकर बुलाते हैं।

टाइगर पटौदी के नाम पर सैफीना कर रहे विचार
रिपोर्ट्स के मुताबिक, छोटे बेटे को सैफीना जेह कहकर ही बुलाएंगे, यह साफ नहीं है। बताया जा रहा है कि उसका नाम दादा टाइगर पटौदी के नाम पर मंसूर भी रखा जा सकता है। मंसूर अली खान पटौदी को क्रिकेट की दुनिया में टाइगर पटौदी के नाम से जाना जाता है।

जेह का मतलब- ब्लू क्रेस्टेड बर्ड
भले ही यह नाम सैफीना के बेटे का असली नाम नहीं है लेकिन फिर भी ये नाम अपने आप में अलग इम्पोर्टेंस रखता है। जेह लैटिन मूल का नाम है, जिसका अर्थ नीला पंछी होता है जिसके सिर पर कलगी होती है।

तैमूर को प्यार से टिमटिम कहते हैं सैफीना
करीना और सैफ पहली बार 20 दिसंबर 2016 में पैरेंट बने थे। तब तैमूर का जन्म हुआ था। तैमूर को सैफीना प्यार से टिमटिम भी कहते हैं। इसी साल फरवरी में उनके छोटे बेटे का जन्म हुआ। संयोग है कि तब सैफीना अपने नए और बड़े घर में शिफ्ट कर रहे थे। करीना की प्रेग्नेंसी का ज्यदातर वक्त भी इस घर के इंटीरियर डेकोरेशन के मैनजमेंट में बीता। उधर, सैफ ने तय किया था कि छोटे बेटे के आने से पहले वे अपने सभी पेंडिंग प्रोजेक्ट खत्म कर लेंगे।

पहले बेटे के नाम पर हुआ था विवाद
तैमूर के नाम पर हुए विवाद पर सैफ ने कहा था- ‘मैं इस नाम का इतिहास जानता हूं, लेकिन वजह कुछ और है तैमूर का नाम रखने की। मुझे पता है कि एक तुर्की क्रूर शासक था लेकिन उसका नाम तिमूर था और मेरे बेटे का नाम तैमूर है। यह एक जैसा जरूर सुनाई देता है, लेकिन एक नहीं है। बीते कल को आज के लैंस से देखना गलत है। एक नाम से कुछ फर्क नहीं पड़ता, अशोका भी एक हिंसक नाम है उसी तरह एलेक्सेडंर भी इसी तरह का नाम है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *